Sunday, November 27, 2022

Latest Posts

श्री कृष्ण ने बलराम को बताये थे सफलता के यह 5 मन्त्र, सफल होना है तो आप भी अपनाएँ

श्री कृष्ण ने दुनिया को प्रेम करना सीखाया है अगर प्रेम की बात जब भी आती है तो श्री कृष्ण को याद किया जाता है लेकिन श्री कृष्ण ने अपने भाई बलराम को सफलता पाने के कुछ कारक बताये थे आज हम इस आर्टिकल में श्री कृष्ण के उन्ही कारकों या फिर हम कह सकते है सफलता के मन्त्रों के बारें में बात करने वाले है।

अगर श्री कृष्ण की नीतियों को फॉलो किया जाए तो हम जीवन में हमेशा सफल होंगे इसलिए नहीं की हमने श्री कृष्ण को अपनाया है बल्कि इसलिए की श्री कृष्ण ने जो बताया है अगर कोई इंसान उसे फॉलो करता है तो वह सफलता की और अग्रसर जरुर होता है –

धेर्य से करना चाहिए काम


श्री कृष्ण और बलराम एक ही साथ पले बढ़े लेकिन श्री कृष्ण ने बचपन से ही लोगों को अपनी तरफ आकर्षित किया। चूँकि बलराम बहुत जल्दी आक्रोश में आ जाते थे बल्की उन्हें किसी भी काम को करने की बहुत जल्दी थी।

ऐसे में एक बार श्री कृष्ण ने बलराम को कहा की अगर आप धेर्य के साथ किसी भी काम को करते है तो उसमे आपको सफलता जरुर मिलेगी। अगर हम किसी भी कार्य को जल्दी में करना चाहेंगे तो उसमे सफल नहीं हो पायेंगे इसलिए हमेशा धेर्य बनाये रखना चाहिए।

रणनीति सही होनी चाहिए

श्री कृष्ण ने कहा की अगर हम किसी के साथ युद्ध करने वाले है या फिर किसी तरह का कार्य करने वाले है तो हमें उस कार्य के बारें में पूरी गहनता से जानकारी होनी चाहिए अन्यथा हम निष्फल हो जायेंगे।

इसलिए श्री कृष्ण ने कंस का जब वध किया तो उन्होंने बहुत अच्छी रणनीति के साथ उनका वध किया जो की आज भी एक मिसाल बना हुआ है। बलराम को समझाते हुए कहा की किसी भी कार्य को करने से पहले उसके बारें में विचार जरुर करना चाहिए।

सभी के साथ अच्छा व्यवहार

श्री कृष्ण कहते है की सफल लोग वही होते है जो सभी के साथ अच्छा व्यवहार करते है अगर जाति-धर्म को लेकर किसी से इर्ष्या रखी जाए तो कोई भी इंसान सफल नही होगा। भविष्य में वही सफल होगा जो सभी को साथ लेकर आगे बढने का प्रयास करेगा अगर वह अकेला कुछ करने की सोचेंगे तो वह अवश्य फेल हो जायेंगे।

इसलिए सभी के साथ अच्छा व्यवहार करना बहुत आवश्यक है। अगर किसी के साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया जाता है तो सफलता किसी भी समय नही मिलेगी।

सद्कर्म करें और सफलता पायें

श्री कृष्ण ने कहा की किसी के साथ गलत करने के बारें में कभी ना सोचें अगर आप किसी के साथ गलत करते है तो आपको सफलता कभी नहीं मिलेगी इसलिए हमेशा सद्मार्ग पर बने रहे और उस समय का इंतजार करें जब आपका प्रचम पूरी दुनिया में फेल जाएगा।

दूसरों का भला सोचने वाले इंसान ही सफलता की नींव रखते है अन्यथा लोग सफल होकर भी निष्फल हो जाते है।

प्रेम बहुत जरूरी है

श्री कृष्ण ने कहा की अगर हम किसी से प्रेम नहीं कर पाते है तो हम कभी सफल नहीं हो पायेंगे प्रेम का अर्थ यह नही है की किसी लड़के या लड़की से हो, प्रेम हमें अपने कर्म अपने कार्य और अपने घर वालों से भी करना चाहिए।

जो इंसान प्रेम करता है उसे सफलता अवश्य मिलती है लेकिन प्रेम निश्छल होना चाहिए उसमे किसी तरह की उम्मीदें नहीं होनी चाहिए और कहा जाता है की किसी भी कार्य को करने के लिए प्रेम का होना बहुत आवश्यक है।

ऐसी ही अच्छी जानकारी के लिए हमें फॉलो करें ताकि हम आपको ऐसी जानकारी हर रोज देते रहें।

Latest Posts

Don't Miss