Sunday, November 27, 2022

Latest Posts

नज़मा को तीन तलाक नहीं दे पाया तो पुलिस अफसर ने गाड़ी से कुचलवा दिया, पुलिस को आखिर तक नहीं था कोई शक लेकिन एक गलती ने खोल दी पोल

पति-पत्नी का रिश्ता काफी शानदार होता है और यह एक ऐसा रिश्ता होता है जो विश्वास पर टिका होता है। जीवन में अगर किसी को एक रहना है तो उसे एक दुसरे पर विश्वास करना होता है। लेकिन यमुनानगर हरियाणा के एक रेलवे पुलिस कर्मचारी ने अपनी पत्नी के साथ वो कारनामा किया जिसके बारें में कोई सोच भी नहीं सकता।

आइये जानते है पूरा मामला क्या है और आखिर क्यों एक पति ने पत्नी को कुचलवाकर जान लेली। लेकिन पुलिस को नहीं लगने देना चाहता था भनक लेकिन उसकी एक गलती ने उसे पकड़वा दिया है।

नज़मा से किया था प्रेम विवाह


आरोपी अली ने फेसबुक पर नजमा से दोस्ती करी दोनों अक्सर मिलते रहे और बाद में जब नजमा ने शादी की बात करी तो अली ने पहले मना कर दिया लेकिन बाद में नजमा ने कहा की वह पुलिस में इसकी जानकारी देगी तो नौकरी जाने के डर से उसने नजमा से शादी कर ली।

अली ने सोचा पहले शादी कर लेता हूँ उसके बाद तीन तलाक देकर नजमा से छुटकारा पा लूँगा लेकिन उसी वक्त तीन तलाक पर सख्त कानून बन जाता है और नजमा अली के जीवन का रोड़ा बन जाती है।

पांच माह की गर्भवती थी नजमा

रिपोर्ट में मिली जानकारी के अनुसार नजमा पांच माह की गर्भवती थी लेकिन अली ने उसे नहीं बख्सा, अली ने नजमा से छुटकरा पाने के लिए अपने चचेरे भाई के साथ मिलकर एक प्लान बनाया और उसका प्लान काम भी किया।

नजमा का एक्सीडेंट दिखाकर एक गाड़ी से कुचलवाकर उसको खत्म कर दिया गया केस एक्सीडेंट का बना लेकिन अचानक पुलिस को कुछ ऐसा मिला जिसके बाद अली को गिरफ्तार कर लिया गया।

अली के गाँव की थी गाड़ी

पुलिस को शक नहीं होता लेकिन जब पता चला की जो गाड़ी नजमा को कुचलकर गई वो गाड़ी अली के गाँव की थी जो पैतृक गाँव था वहाँ की यह गाड़ी होने के कारण नजमा के पति अली पर शक गया।

अली से पूछताछ करी गई तो पता चला की अली को एक लड़की के पिता ने ऑफर दिया था की वह अगर उसकी लड़की से शादी करेगा तो उसे पच्चास लाख दहेज दिया जाएगा बस उसी के लालच में आकर अली ने नजमा को अंतिम पल तक पहुंचा दिया।

अली को अब गिरफ्तार कर लिया गया है

अली ने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया है अली को दो दिन के लिए रिमांड पर भेज दिया गया है और उसकी नौकरी से बाहर कर दिया गया है। पुलिस के अनुसार शुरुआती रूप में यह केस सिर्फ एक्सीडेंट का लग रहा है लेकिन असल में यह केस तो ह-त्या का था।

अगर अली की गलती इतनी नहीं होती अगर वह अपने गाँव की गाड़ी नहीं रखता तो उसे गिरफ्तार नहीं किया जाता और ना ही उससे कोई पूछताछ करी जाती लेकिन अली की एक गलती ने उसको पूरी तरह से बर्बाद कर दिया है।

आस-पास की ऐसी ही जानकारी के लिए आप हमें फॉलो करें और अगर जानकारी अच्छी लगी हो तो हमें फॉलो जरुर करें ताकि आपको ऐसी जानकारी हम रोज देते रहें।

Latest Posts

Don't Miss