Tuesday, November 29, 2022

Latest Posts

दंपति ने दिया था मजदूरों को रहने के लिए आसरा, लेकिन उन्हें क्या पता था की यह लोग उनके साथ कुछ ऐसा करने वाले है

गाजियाबाद के पटेल नगर में दिवाली की रात दंपति की लाश उनके घर में मिली, पुलिस को इस केस के बारें में दंपति की बेटी ने बताया। पुलिस उसी रात से सबूत जुटाना शुरू करती है और देखते ही देखते जो कड़ी सामने आती है वह आपके होश उड़ा देगी।

जिनपर दंपति ने किया था विश्वास उन्ही ने लेली उनकी जान आइये जानते है इस मामले को पूरी गहराई के साथ और दोनों की जान कैसे गई इसका खुलासा पूरी तरह से होगा। पुलिस के द्वारा मिली जानकारी और CCTV फुटेज ने जो खुलासा किया है वो काफी हैरान करने वाला है –

बिल्डिंग में रहने के लिए दी थी जगह


अशोक जैदका और मधु जैदका दोनों अकेले अपने घर में रहते थे वह उपर के मकान में रहते थे निचे बिल्डिंग में मॉडल शॉप चलती थी उसी में काम करने वाले मजदूरों को उन्होंने इसी बिल्डिंग में रख रखा था। उनसे किराया भी नहीं लिया जाता था चूँकि वह एक फैमिली की तरह रहने लगे थे और किराए के बदले में दंपति का कुछ काम कर दिया करते थे।

सब कुछ सही था काफी समय से मजदूर इनके साथ रहते थे और इनका व्यवहार भी काफी अच्छा था लेकिन अचानक दिवाली की रात जब बेटी ने इन्हें कॉल करी तो दंपति ने कॉल नहीं उठाई रात 12 बजे तक जब कॉल नहीं उठाई तो बेटी को शक हुआ।

बेटी ने धोबी को घर भेजा

बेटी ने धोबी को कॉल किया और अपनी फैमिली के बारें में पता करने के लिए कहा तो उसने जब घर जाकर देखा तो दंपति मौत के घाट उतार दिए गये थे वह काफी जख्मी थे पुलिस को खबर दी गई और पुलिस ने आते ही शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

दंपति की ऐसी हालत देखकर पुलिस को कुछ समझ नहीं आ रहा था लेकिन जैसे ही CCTV फुटेज देखे तो तीन लोग गमछा लपेटे घर में घुसते नजर आये और जैसे मधु की लाश गेट के पास थी तो समझ सकते है की कोई जानकार था तभी गेट खोला गया था।

पुलिस को मिले पक्के सबूत

हालाँकि आस-पास के लोगों ने मजदूरों के साथ उनका कोई झगड़ा नहीं सूना था लेकिन शक मजदूरों पर गया और उनकी पहचान भी हो गई और जब मजदूरों की लोकेशन देखी गई तो दंपति की मौत के समय वह पटेल नगर में ही ट्रेश हुए लेकिन उसके बाद से उनका फोन बंद है।

जब ज्यादा जानकारी जुटाई गई तो पता चला की वह अपने गाँव जाने का कहकर यहाँ से गये है लेकिन तीनो इस तरह का काण्ड करेंगे यह किसी ने नहीं सोचा था। अब घर में किसी तरह की लूटपाट नहीं हुई है तो लगता है किसी ने उनकी सुपारी दी थी लेकिन किसने वैसे दंपति का झगड़ा सामने रहने वाले एक नेताजी से चल रहा था लेकिन ऐसा कुछ करने की उम्मीद उनसे नहीं की जा सकती। पुलिस इस केस की पूरी जांच करने के बाद प्रेस नोट जारी करेगी तब तक हमारे साथ बने रहे।

Latest Posts

Don't Miss