Thursday, December 1, 2022

Latest Posts

हेलीकॉप्टर में बारात लेकर बस्तर के बीहड़ों से निकली दुल्हन, जंगलों के बीच इस शाही अंदाज में हुई शादी

छत्तीसगढ़ राज्य में हुई एक शादी को लेकर

लोगों के बीच काफी चर्चाए है. एक आम परिवार की दुल्हन बारात लेकर हेलीकॉप्टर से पहुंची थी। बता दें कि दुल्हन यह बरात बस्तर के जिला मुख्यालय जगदलपुर से जंगल बहुल क्षेत्र बीजापुर जिले में पहुंची. इस शाही शादी में करोड़ों रुपये खर्च किए गए। शादी से लेकर रिसेप्शन तक हर फंक्शन को अलग तरह से किया गया। शादी ने स्थानीय मीडिया में भी सुर्खियां बटोरीं। आपको बता दें कि शायद पहली बार बस्तर में इस अंदाज में शादी का कार्यक्रम आयोजित किया गया। छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग के बीजापुर में रहने वाले ठेकेदार सुरेश चंद्राकर की शादी पूरे इलाके में चर्चा का विषय है. लोग शादी के शाही अंदाज और उसमें होने वाले खर्च को लेकर काफी चकित हैं। सुरेश की शादी इसलिए भी चर्चा में है क्योंकि उसकी दुल्हन रेणुका वर्मा हेलीकॉप्टर से बारात लेकर जगदलपुर से बीजापुर पहुंची थी.

गौरतलब है कि बीजापुर में

सुरेश चंद्राकर और रेणुका वर्मा ने 23 दिसंबर 2021 को शादी रचा ली। आज सुबह दुल्हन जगदलपुर से अपने हेलीकॉप्टर में बैठी और बीजापुर स्थित अपने ससुराल के लिए उड़ान भरी। हेलीकॉप्टर में बैठी दुल्हन की तस्वीरें सोशल मीडिया पर भी खूब वायरल हो रही हैं. बताता चले की बस्तर से बीजापुर पहुंचने पर ससुराल पक्ष की ओर से दूल्हे के परिजनों व मित्रों ने हेलीपैड पर दुल्हन का स्वागत किया. इसके बाद इन दोनों को को मर्सिडीज कार में वेन्यू ले जाया गया। 23 दिसंबर को शादी के बाद 24 दिसंबर को बीजापुर में दोनों का रिसेप्शन प्रोग्राम पूरा हुआ.

अगर हम सुरेश चंद्राकर की बात करें तो

सुरेश चंद्राकर पेशे से श्रेणी ए के ठेकेदार हैं। इसके अलावा महार समाज और बौद्ध संघ छत्तीसगढ़ के बीजापुर के जिलाध्यक्ष भी हैं। रेणुका वर्मा एक मध्यमवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखती हैं। आपको बता दें कि महार समाज में दुल्हन को बारात लेकर दूल्हे के घर ले जाने की परंपरा है. मीडिया को सुरेश चंद्राकर से मिली जानकारी के अनुसार शादी के कार्यक्रम में करीब 3 करोड़ रुपये खर्च किए गए. सुरेश का दावा है कि उसने शादी का खर्च वहन किया। बताया जा रहा है कि बीजापुर जिले में पहली बार इस तरह के विवाह कार्यक्रम आयोजित किए गए.


Latest Posts

Don't Miss