Saturday, December 3, 2022

Latest Posts

मालिक को परेशान नहीं देखना चाहता था नौकर इसलिए उनकी पत्नी की लेली जान देखें

दिल्ली बुराड़ी पुलिस थाने में एक अजीब मामला सामने आया हैं यहाँ एक नौकर ने अपने मालिक को दुखी ना देखने के लिए उनकी पत्नी की जान लेली है। अपना गुनाह उसने खुद कबूल भी किया है। यह काफी हैरान कर देने वाली खबर है इसलिए इसे पूरा जरुर पढ़ें ताकि आपको पूरा मामला समझ आए

पुलिस हवलदार ने सड़क किनारे एक व्यक्ति को देखा वह काफी डरा हुआ था उसने जब उसे देखा तो उसकी परेशानी की वजह पूछी तो उस व्यक्ति ने कहा की मैंने अपनी भाभी पिंकी को मार दिया है उसकी लाश उसके घर में पड़ी है। हवलदार टीम को लेकर गये और मौके पर महिला की बॉडी बरामद करी।

मालिक को तंग करती थी पत्नी


वीरेंद्र जो असिस्टेंट ऑफिसर है वह काफी अच्छा इंसान था उसका ड्राईवर राकेश उसने बताया की शादी से पहले वीरेंद्र मुझे भाई की तरह मानता था लेकिन जैसे ही उसकी शादी पिंकी के साथ हुई पिंकी ने उसे नौकरी से भी निकाल दिया और वीरेंद्र ने जो घर दे रखा था रहने के लिए वहां से भी निकाल दिया।

इस सब से वीरेंद्र भी काफी परेशान था लेकिन उसकी शादी हुई थी तो वह चुप था, राकेश ने बताया की उनका दुःख उससे देखा नहीं गया तो उसने अपने साहेब से पूछा तो उन्होंने और उसके भतीजे गोविन्द ने उन्हें यह प्लान बनाकर दिया और मैंने उन्हें फॉलो किया लेकिन अब मुझे डर लग रहा था तो पुलिस को सब सच्चाई बता दी।

राकेश ने पिंकी को लगाया करंट

राकेश ने कहा की मैं पहले घर गया और घर जाते ही भाभी का गला दबा दिया उसके बाद जब उसकी मौत हो गई तो मैंने उसे करंट भी लगाया यह सब प्लान में शामिल था। लेकिन जैसे ही मैं इस कृत्य को अंजाम देकर घर आने लगा तो मैं घबरा गया और मेरे मुहं से पूरा सच निकल गया।

पुलिस को इसकी जानकारी मिल गई है और पुलिस ने वीरेंद्र, गोविन्द और राकेश को गिरफ्तार कर लिया है। अब इनसे पूछताछ जारी है आखिर एक महिला के तीन दुश्मन कैसे बने यह भी पढ़ लीजिये।

वीरेंद्र का दुःख देखा नहीं गया इनसे

गोविन्द जो की वीरेंद्र का भतीजा था वह भी इस मामले में कैसे शामिल हुआ यह काफी अजीब है लेकिन सत्य है। वीरेंद्र शादी से पहले सभी को सम्मान देता था लेकिन पिंकी से शादी होने के बाद वह दुखी रहने लगा उसके जीवन में काफी परेशानिया आने लगी अब वह किसी से बात भी नहीं करता था।

इन सब को देखते हुए वीरेंद्र के भतीजे गोविन्द ने ड्राईवर के साथ मिलकर प्लान बनाया, वीरेंद्र को भी यह सब पता था और उसने इसमें हामी भरी और ड्राईवर ने पिंकी को अंतिम क्षण तक पहुंचा दिया। खबरों से निरंतर बने रहने के लिए हमें फॉलो करें और ऐसी जानकारी पढने के लिए इन्हें आगे शेयर जरुर करें।

Latest Posts

Don't Miss