Sunday, November 27, 2022

Latest Posts

जब दुल्हे ने ठुकराया 4 करोड़ रुपय का दहेज, उड़ गए सबके होश

भारत में पुराने समय से चली आ रही दहेज प्रथा किसी घातक प्रदूषण से कम नहीं है। आपने कई बार सुना होगा कि देहज के लालच में आकर वर पक्ष ने लड़की का उत्पीड़न करा और कभी कबार तो उचित दहेज न मिलने के कारण शादी के मंडप से बारात की वापसी हुई है, ये सभी वाकये भारतीय सभ्यता को शर्मसार कर देने वाले हैं। बहरहाल, आज हम आपको एक ऐसी शादी के बारे में बताने जा रहे हैं जो हमारे उपर्युक्त तर्कों से बिल्कुल उलट है, जो इस मामले में एक बड़े बदलाव की मिसाल बनकर सामने आ रही है।

आज हम आपको हरियाणा में संपन्न हुई एक ऐसी शादी के बारे में बताने जा रहे हैं

जिसमें युवक ने चार करोड़ का दहेज लेने से मना कर दिया। इतना ही नहीं युवक के इस फैसले में उसका पूरा परिवार शामिल था। युवक को मिलने वाले चार करोड़ के दहेज के सामने उसने मात्र एक रुपये का शगुन स्वीकार करा और कहा की दुल्हन से बढ़कर दहेज आख़िर क्या हो सकता है। दुल्हे के विचारों और आदर्शों को सभी ने सराहा और दुल्हे की स्थिरता की प्रशंसा की। आख़िर ऐसे कदम उठाकर ही तो हम समाज में व्याप्त तमाम कुरीतियों को नेस्तानाबूद कर सकते हैं।

युवाओं की इस पहल ने सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियां बटोरी

हरियाणा के आदमपुर इलाके में हुई इस शादी में दूल्हे बलेंद्र ने शर्त रखी थी कि वह शादी में दहेज नहीं लेगा। इसके अलावा दूल्हे ने शादी में किसी भी तरह का फालतू खर्च करने से मना कर दिया था। हालांकि, लड़की के परिवार वालों ने युवक को चार करोड़ दहेज के रूप में देने का फैसला किया था लेकिन बलेंद्र ने उसे ख़ारिज कर दिया और केवल एक नारियल और एक रुपया शगुन के रूप में स्वीकार किया। इसके बाद दोनों ने शादी कर ली और दोनों ने बड़ों का आशीर्वाद लिया। दूल्हा बलेंद्र कहता था कि एक मां-बाप अपनी जिंदगी की सबसे कीमती संपत्ति अपनी बेटी को दे रहा है, उसके बाद किसी और चीज की क्या जरूरत।


 

Latest Posts

Don't Miss