Sunday, November 27, 2022

Latest Posts

बुराड़ी केस में 3 साल बाद हुआ खुलासा आखिर क्यों एक ही परिवार के 11 लोगों ने  लगा ली थी फांसी

1 जुलाई 2018  को दिल्ली ट्रेन है 11 लोगों की लाश मिली जब पुलिस के सामने आया तो पहली नजर में पूरी तरह से सुसाइड लग रहा था क्योंकि इन लोगों को इस तरह से फांसी पर लटका ना किसी के लिए आसान नहीं था लेकिन पुलिस को इस पूरे मामले में कुछ गड़बड़ लग रही थी।  लेकिन उस वक्त हैरान हो गई जब घर में परिवार के सदस्यों की एक डायरी मिली इस बारे में परिवार के सदस्यों द्वारा मौत लिखी थी।

पुलिस को जो डायरी मिली इस डायरी में पुलिस को हैरान कर देने वाले फैक्ट पढने को मिले इस डायरी में घर के सभी सदस्यों ने अपनी मौत के बारें में लिखा था और जिस तरह से इसमें लिखा गया था ठिक उसी तरह से पुलिस को उन 11 लोगों के शव मिले।

दिल्ली का सबसे डरावना सुसाइड


दिल्ली के बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 लोगों ने आत्म-ह-त्या कर ली थी इस सुसाइड को देखकर पुलिस ही नहीं मीडिया भी काफी हैरान थी और यह 2018 मेंसबसे ज्यादा चर्चा में रहने वाला सुसाइड था लेकिन अभी तक इस केस की पूरी जांच नहीं हो पाई है आज तक पुलिस अपने नतीजे पर पहुँच नहीं पाई है।

पुलिस के अनुसार इस डायरी में जो लिखा गया था वो सब इस घर में था और जैसे उसने मौत के बारें में बताया ठीक वैसे ही सबने जान दी है। हैरान कर देने वाली बात ही है यह एक ही घर के 11 लोग जो बहुत पढ़े लिखे है वो इस तरह से मौत को गले लगा ले हैरान तो होंगे ही ना।

2 नवंबर को कोर्ट करेगी फैंसला

पिछले तीन सालों से यह केस वैसा ही चल रहा है लेकिन पुलिस को अभी डायरी से कुछ और भी मिला है राइटिंग अनालिसीस करने वाले एक्सपर्ट के अनुसार इस डायरी को घर के ही लोगों ने लिखा है और सबसे ज्यादा अगर किसी एंट्री इसमें है वह ललिता और प्रियंका की है।

आपको बता दूँ की 2018 की 1 जुलाई को 11 लोगों के सुसाइड में यह भवनेश चुंडावत और ललित चुंडावत, बेटी प्रतिभा, भवनेश की बीवी सविता और उनके बच्‍चे नीतू, मोनू और ध्रुव, ललित की पत्‍नी टीना और बेटा शिवम तथा प्रतिभा की बेटी प्रियंका शामिल थे।

अभी भी नहीं मिला कोई पक्का सुराग

हालाँकि पुलिस इस किसी तरह से प्लान किया हुआ कत्ल बता रही थी लेकिन अभी तक ऐसा कोई सुराग नहीं मिला है जो इसे कत्ल बताये। 11 पाइप का जाल आज भी पुलिस के समझ में नहीं आया है।

लेकिन हाल ही में जो रिपोर्ट मिली है उसके अनुसार किसी तरह के अन्धविश्वास और घर में किसी एक के मानसिक स्थिति खराब होने के कारण इस तरह का मामला हुआ है। बताया जा रहा है की ललित ने बताया था की उसे अपने बड़े पापा नजर आते है और उसी के कहे अनुसार उसका पूरा परिवार इस तरह के मामले को करने के लिए तैयार हो गया और सभी ने एक साथ जिंदगी को अलविदा कह दिया। 2 नवंबर को पुलिस को पूरा मामला कोर्ट में पेश करना है और कोर्ट इसपर आखिरी सुनवाई कर सकती है आज तक किसी भी आरोपी को इस केस में पकड़ा नहीं है।

ऐसी ही खबरों के लिए हमें फॉलो करें और ऐसी जानकारी के लिए इस आर्टिकल को आगे शेयर करें ताकि हम आपको ऐसी जानकारी रोज देते रहें।

Latest Posts

Don't Miss