Wednesday, November 30, 2022

Latest Posts

77 साल की उम्र में शुरू किया अपना बिज़नस, आज बिज़नसवूमेन की लिस्ट में सर्वोपरी है जाने क्या है इनका बिज़नस आईडिया

आम इंसान 50 साल के बाद रिटायर होना चाहता है लेकिन शायद आपको यह जानकर हैरानी होगी की भारत की एक महिला 77 साल की उम्र में अपना काम करती है। वह काम शुरू करती है और इस काम में वह सफल भी होती है। आज का आर्टिकल इसी महिला के बारें में है जिसने अपने आईडिया को बिज़नस में बदला और आज लाखों रुपयों की कमाई कर रही है।

आइये जानते है इस महिला के बारें में कौन है यह महिला और कौनसा बिज़नस आईडिया है इनका जो इनकी जिंदगी बदल रहा है। यह आर्टिकल आपके बहुत काम आने वाला है अगर आप किसी तरह का बिज़नस करना चाहते है तो आपको ऐसी जानकारी ज्यादा ज्यादा से ज्यादा पढनी चाहिए –

उर्मिला जमनादास आशर


मुंबई के रहने वाले लोगों के लिए यह नाम आज एक ब्रांड बन चूका है इस नाम के साथ इनकी स्टोरी आज दुनिया भर के लोग पसंद कर रहे है। उर्मिला की उम्र 77 वर्ष है इस उम्र में जब लोग अपना बिस्तर नहीं छोड़ते वही उर्मिला सुबह 5:30 बजे उठती है और अपने परिवार के लिए खाना-नाश्ता बनाती है।

लेकिन इतनी बिजी रहने वाली औरत आखिर कैसे लाखों रुपयों की कमाई वाला बिज़नस शुरू कर सकती है। इस बारें में जानने के लिए आपको उर्मिला की जिंदगी के बारें में जानना होगा। अगर हम इनकी जिंदगी के बारें में और ज्यादा पढेंगे तो इनकी जिंदगी अच्छे से समझ आएगी।

बेटे और बेटी को खोने के बाद बहू और पोता बने सहारा

उर्मिला ने बताया की उनकी बेटी की छोटी उम्र में ही मौत हो गई थी उनका बेटा शादी के कुछ सालों बाद गुजर गया। उनका पति पहले से ही गुजरे हुए थे अब उनका सहारा सिर्फ बेटे की विधवा पत्नी और उसका बेटा हर्ष ही थे।

पोते और बहू के साथ जैसे-तैसे इनका जीवन चल रहा था पोता बड़ा हुआ MBA करने के बाद अपना बिज़नस शुरू किया लेकिन 2019 में पोते का एक्सीडेंट हुआ और सर्जरी करवानी पड़ी लेकिन उसका चेहरा ठीक नहीं हो पाया हर्ष का काम रुका फिर से शुरू करने की कोशिश करी लेकिन COVID19 की दस्तक ने उन्हें पूरी तरह से तोड़ दिया।

हर्ष ने दादी को आचार बनाते हुए देखा

हर्ष ने बताया की वह टूट चूका था उसके पास अपनी फैमिली को सपोर्ट करने के लिए कुछ नहीं था लेकिन वह हार नहीं मानना चाहता था  वह कहता है की दादी हमेशा कहती थी की अभी तक तो मैं भी खड़ी हूँ इतने दुःख देखने के बाद भी तो तुम तो अभी जवान है।

उसी वक्त दादी आचार बना रही थी और हर्ष ने पूछा क्या दादी आप बड़े पैमाने पर आचार बना सकती है। दादी ने कहा हाँ तो उसने इधर-उधर से कुछ आचार के ऑर्डर लिए और उनका आचार काफी तेजी से बिकने लगा उसके बाद उन्होंने दादी के हाथ का खाना बनाने लगे और यह सब काफी तेजी से मुंबई में पकड़ बनाने लगे।

गुज्जू बेन ना नाश्ता नाम से शुरू किया ब्रांड

हर्ष ने इन्टरनेट की मदद से गुज्जू बेन ना नाश्ता नाम से एक ब्रांड शुरू किया और जोमेटो, स्विगी इत्यादि से बात करी और उन्हें इसपर लिस्टिंग मिल गई उसके बाद अब उर्मिला जी पूरा दिन अलग-अलग तरह का खाना बनाती है हर्ष खाने की डिलवरी करता है और अन्य डिलवरी बॉय भी रख लिए है।

एक महीने में यह तीन लाख से भी ज्यादा की कमाई करते आ रहे है। हर्ष ने कहा की उन्होंने यह काम लॉकडाउन में शुरू किया और उनका यह काम इतनी तेजी से फेल जाएगा इन्होने कभी सोचा भी नहीं था लेकिन यह अच्छा है।

उर्मिला जी की यह कहानी आपको कैसी लगी अगर आपके पास भी कोई हुनर है तो आप भी उस हुनर के दम पर पैसा कमा सकते हैं। जानकारी को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि लोगों को यह जानकारी मिल पाए।

Latest Posts

Don't Miss