Friday, December 2, 2022

Latest Posts

मोबाइल गेम में 13 वर्षीय ने 40,000 रुपये गंवाए, घरवालों के डर से लगा लिया फंदा

देखा जाए तो, आज कल सुसाइड की खबरे बहुत सुनने को मिल रही है.

आपको बता दें कि, आज के समय में जायदातर सुसाइड हमारे नोजवान करते हैं यह फिर कॉलेज जाने वाले बच्चे, इसको लेकर माँ -बाप भी काफी परेशान होते हैं. क्योंकि वह अपने बच्चों को इतने पाल पास कर पालते हैं, और उनका बच्चा एक छोटी सी चीज के लिए अपना पूरा जीवन दान कर देता है. इसलिए हमें अपने बच्चों को अपना दोस्त बना कर रखना चाहिए कि वह हमसे सारी बातें शेयर करें.

देखा जाए तो असल में आये दिन

कोई न कोई अजीबो गरीब घ;टनायें भी हमे और आपको सुनने को मिलती ही रहती है, और आज भी कुछ ऐसी ही एक खबर सुनने में आ रही है, जिसके मु;ताबिक, 13 साल का एक बच्चा जो कि मोबाइल में गेम खलने के दौरान 40 हजार रूपये हार गया, जिसका इसको काफी दुख भी हुआ, मगर वह था एक बच्चा व क्या करता. उसे उसके मम्मी पापा का भी डर था, जिसके बाद उसने उठा लिया बड़ा कदम, जिसे सुन आपका भी दिल रो पड़ेगा.

असल में हर मम्मी पापा यही चाहते हैं कि

उनका बच्चा पढ़ाई लिखाई में ज्यादा तेज़ हो, और ज्यादा ध्यान पढ़ाई पर दें और फालतू वक़्त न बर्बाद करें. देखा जाए तो, बच्चों के लिए खेल कूद भी उतना ही जरूरी होता है जितना कि पढ़ाई लिखाई करना, लेकिन आज के वक़्त में स्मार्टफोन और सोशल मीडिया के बच्चे है ना वह समझते ही नही उनको तो बास उनका अपना लाइफ चाहिए होता है. सारा दिन मोबाईल में ही घुसे रहते हैं.


खासकर के बच्चों को मोबाईल में गेम्स खेलना

औऱ मज़ेदार वीडियोज़ देखना काफी अच्छा लगता है. वे माता- पिता से मोबाइल चोरी कर के लेकर भी घंटों गेम्स खलते हैं.ऐसी ही एक बच्चा जिसे मोबाईल गेम खेलने की आदत थी, वह मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले का रहेना वाला था, उसकी उम्र थी 13 साल की उसका नाम था कृष्णा.

वह भी लॉकडाउन में अपनी माँ के मोबाईल से ऑनलाइन क्लास करता था

लेकिन चोरी से गेम भी खेलने लगा था. जिसका उनकी माँ को पता नही था.अब अगर बात गेम खेलने तक तो फिर भी ठीक ही है, पर वह इस गेम में पैसे भी अपने लगाने लगा, अपने पैसे तो नही बल्कि अपने पापा और मम्मी के, कृष्णा को फ्री फायर नामक गेम खेलने का बड़ा शौक था. हालांकि बता दें कि, इसी गेम में वह 40 हजार रुपए भी हार गया था. ये पैसे उसकी माँ के बैंक अकाउंट से कट भी गए थे.

जानकारी के अनुसार, बता दें कि

जब माँ (प्रीति पांडेय ) को मोबाईल पर बैंक से पैसे काटने का मैसेज आया तो, वह अपने बेटे को कॉल कि. बेटे ने उसके माँ को बोला कि, उनके पैसे फ्री फायर गेम से कट चुके हैं.या सब सुन कर मां को काफी गुस्सा भी आया और उसकी माँ काफी नाराज भी हुई और उसने बेटे को गु;स्से से डांट दीया. मां की डांट सुनकर बेटा इतना डि;प्रेशन में चला गया कि उसने फंदे पर लटक कर आ;त्मह;त्या ही कर ली.

आत्महत्या करने से पहले उसने एक नोट भी लिखा है जिसे पढ़कर आपकी आंखों से आंसू छलक आ जायगे. सागर रोड पर रहने वाला कृष्णा विवेक पांडेय, प्री;ति पांडेय का इकलौता ही बेटा था.

कृष्णा के पिता पैथालॉजी संचालक हैं, जबकि माँ जिला अ;स्पताल में कार्यरत हैं. कृष्णा 6वीं क्लास में पढ़ाई करता था.

उसकी एक बहन भी है, जोकि उसे काफी छोटी थी.शुक्रवार दोपहर कम से कम 3 बजे वह घर में अपनी बहन के साथ अकेला था. उसके पिता पैथोलॉजी में थे जबकि माँ अस्पताल में ड्यूटी पर गई थी.

मोबाईल पर जब माँ का मैसेज आया पैसा काटने का 1500 रुपए काट गए थे. ऐसे में माँ ने बेटे को फोन कर कहा कि यह पैसे कैसे काट गए? इस पर बेटे ने ऑनलाइन गेम की बात बताई उसकी माँ को बताई, इस पर नाराज माँ ने उसे जोर से फटकार लगा दी, यानी कि गुस्से में सुना दिया.

माँ का गुस्सा देखकर कृष्णा अपने कमरे में चला गया और अंदर से दरवाजा बंद कर लिया.कुछ समय बाद उसकी बड़ी बहन ने दरवाजा में आवाज़ लगाया और खट;खटाया. जब अंदर से कृष्णा की कोई प्रतिक्रिया नहीं सुनाई दी तो, उसने मम्मी पापा को कॉल किया.

उसके मम्मी पापा जब घर आए तो उन्होंने कृष्णा के कमरे का दरवाजा तोड़ दिया.लेकिन अंदर का नजारा देख उनके माता पिता की पैरों तले जमीन खिसक ही गई. उनका घर का लाल 13 साल का उनका छोटा बेटा फं;दे पर लटक चुका था.बता दें कि, कृष्णा के कमरे से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ, जिसमें उसने फ्री फायर नामक गेम में 40 हजार रुपए हारने की बात कही थी.इसके साथ ही उसने बताया था कि वह काफी डिप्रेशन में जाने की वजह से उसनें आ;त्मह;त्या कर ली. उसने अपनी माँ के लिए लास्ट लिखा ‘एम सॉरी मां, डोंट क्राइ।’ उस बच्चे का यह नोट अब पूरी सोशल मीडिया पर विराल काफी जोरो से हो रहा है.

Latest Posts

Don't Miss